गुरुवार, 4 नवंबर 2021

हाइकु

 माँ लक्ष्मी आईं

खुशियाँ बरसायीं
मन को भाईं !

शुभ शगुन
गणपति विराजे
कलश साजे !

मण्डप सजा
रिद्धि सिद्धि ले साथ
पधारो नाथ !

राम पधारे
शुभ शगुन सारे
हँसी बधाई !

खुशियाँ वारूँ
राम लखन जानकी
छवि निहारूँ ! #निवी

3 टिप्‍पणियां:

  1. जी नमस्ते ,
    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार(०६-११-२०२१) को
    'शुभ दीपावली'(चर्चा अंक -४२३९)
    पर भी होगी।
    आप भी सादर आमंत्रित है।
    सादर

    जवाब देंहटाएं
  2. सुंदर सार्थक सामायिक रचनाएं।

    जवाब देंहटाएं