रविवार, 21 नवंबर 2021

खुशियों की हुई बरसात !

 प्यार भरी हुई इक बात

खुशियों की हुई बरसात !

नन्हा सा इक फूल खिला
झोंका खुशबू भरा मिला
सज गयी मेरे घर की डाली
प्रभु बन कर आये माली
दुआओं की तानी कनात
खुशियों की हुई बरसात !

ठुमकते आये नन्हे पाँव
बसा गए सपनों के गाँव
उँगली थामे तू मुस्काये
ममता यूँ न्यौछावर जाए
जग में हो जाये विख्यात
खुशियों की हुई बरसात !

नाम तेरा #अहान रखा
तुझ में हँसता मेरा सखा
नमः शिवाय का जप किया
भोले ने तुझ सा वर दिया
स्मित से तेरी हुआ प्रभात
खुशियों की हुई बरसात !

दुआ माँगते जोड़ कर हाथ
खुशियों की हुई बरसात ! #निवी