शनिवार, 1 जनवरी 2011

नये साल का संकल्प.......

 बहुत दिनों से सोच रही थी इस साल क्या संकल्प लूं ,लेकिन नया साल पहले आ गया और मैं पीछे ही रह गयी ।खैर better late than never इससे प्रेरित हो कर अब संकलिप्त हो लेती हूं कि  अब कोई भी नया संकल्प न लेने की ,कम से कम इस वर्ष । वैसे भी करते तो हम वही हैं जो मन करता है । संकल्प तो काम करने के बाद ही याद आता है।जो काम हम नहीं कर पाते हैं उस के लिये हम संकल्प का बहाना बना लेते हैं ।अपने किसी भी किये या अनकिये काम के लिये दूसरे को ज़िम्मेदार ठहराने के लिये ,या यूं कहूं कि अपनी ज़िम्मेडारी से बच निकलने का चोर दरवाज़ा है ये तथाकथित संकल्प । शायद ये एक कदम है बंजारा जीवन की तरफ़ ।              नया साल सबके लिये सुख ,समॄद्धि , संतुष्टि  और खुशियां लाये।     

7 टिप्‍पणियां:

  1. वाह! इस साल कोई संकल्प न करने का संकल्प बहुत ही अनोखा है.
    वैसे आपने सच ही लिखा भी है करते तो हम अपने मन की ही हैं और वैसे भी ये संकल्प महज कुछ दिन की खाना पूर्ती से ज्यादा कुछ नहीं होते.

    नया वर्ष सपरिवार आपके लिए भी शुभ हो.

    उत्तर देंहटाएं
  2. संकल्प तो काम करने के बाद ही याद आता है।
    xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
    सच है ..परन्तु संकल्प लेना तभी सार्थक होता है ..जब वहां पर कोई विकल्प न हो
    ..जहाँ विकल्प होता है वहां संकल्प नहीं ..और जहाँ संकल्प होता है वहां विकल्प का प्रश्न ही पैदा नहीं होता..विचारणीय बिंदु ..शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  3. आदरणीय nivedita srivastava जी
    आपको नव वर्ष 2011 की हार्दिक शुभकामनायें ...स्वीकार करें

    उत्तर देंहटाएं
  4. ईमानदार लगती हो, अच्छी कलम के लिए बधाई !

    उत्तर देंहटाएं
  5. नया वर्ष सपरिवार आपके लिए भी शुभ हो.

    उत्तर देंहटाएं
  6. आदरणीय सतीश जी प्रिय यशवन्त ,केवल रामजी एवं संजय जी आप सबका धन्यवाद .

    उत्तर देंहटाएं