शुक्रवार, 28 सितंबर 2012

" अभिषेक " : एक एहसास सम्पूर्ण संतुष्टि का -:)





माँ  बनना  अपने आप में एक बहुत प्यारा एहसास है | इस बात को हर माँ समझती है और एक पिता को थोड़ी सी ईर्ष्या होती है -:) अपनी पहली श्वांस से बच्चा सबसे अधिक  निकट माँ  के  ही रहता है | उसकी हर कही - अनकही  धडकनें माँ  के  दिल में ही बसी रहती हैं | बच्चे का जन्म माँ का भी एक नया जन्म होता है ,फिर उसके  जन्मदिन  की  आहट भी एक नई ऊर्जा जगा जाती है | आज हमारे छोटे बेटे " अभिषेक " का जन्मदिन है -:)

बच्चों  के  जन्मदिन  पर  उनको क्या उपहार दिया जाए हर वर्ष ये सोचते थे ,पर आज इस छोटे से बच्चे ने कितने अनोखे गौरवान्वित पल हमें दिए मैं ये अनुभूत कर रही हूँ ! जब बड़े  बेटे " अनिमेष " का जन्म हुआ हम बहुत खुश थे | बस यही लगता था कि हमारा परिवार कितना सुखी है | इन लम्हों की खुशी अभिषेक के आने से  दुगनी  हो  गयी | अब अनिमेष को भी अपने भाई का साथ मिल गया था | उन दोनों की अपनी ही दुनिया बन गयी थी ,जिसमें उनके शरारतें भी होती और एक - दूसरे के  प्रति  अगाध प्यार भी रहता | जब भी उन दोनों को देखती , बस  यही  लगता अनिमेष  ने  हमारे परिवार का प्रारम्भ किया और अभिषेक ने उस परिवार को सम्पूर्ण किया ! 

दोनों अपनी निश्छल चंचलता से सबके दुलारे बने ,आपस में एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा भी रखते थे | जब भी स्कूल से लौटते तो दोनों अपनी कॉपी में "गुड" गिनते और हमें दिखाते | जिसका भी कम रह जाता वो दूसरे दिन की प्रतीक्षा करता ! इस प्रकार हर परीक्षा में दोनों एक - दूसरे के प्रतिद्वंदी बन जाते और एक - दूसरे की उपलब्धियों पर खुश भी बहुत होते | सब को आश्चर्य होता था पर हमारे दोनों बच्चों के अंक अपनी दोनों बोर्ड (दसवीं और बारहवीं ) की परीक्षाओं में भी एक से थे ... कक्षा दस में ९४.८ प्रतिशत और  कक्षा १२ में ९२.८ प्रतिशत ! इसके बाद दोनों आई.आई.टी.कानपुर भी आगे - पीछे पहुंचे ! इस प्रकार हमारे परिवार में बेशक हर काम की शुरुआत अनिमेष ने की , पर उसको  अभिषेक ने आगे ले जा कर परिवार के लिए सम्पूर्णता तक पहुँचा दिया |

अपने  जीवन  के  सबसे  अधिक  गौरवान्वित  पलों  को  याद  करती  हूँ  तो  सबसे  प्यारा  लम्हा  याद  आता है , अनिमेष   के  आई.आई.टी. में चुने जाने पर आने वाली बधाइयों का ! पर उसमें भी , जैसा कि दस्तूर है कुछ काँटे  भी चुभा  दिए गये कि देखो दूसरा बेटा क्या कर पाता है ! अगले ही वर्ष अभिषेक  भी  भाई का पीछा करता कानपुर पहुँच गया | सच रिजल्ट आने के बाद वाले पन्द्रह दिन तो एक सपने जैसे ही लगते हैं | मिलने वाली  बधाईयाँ  और समाचारपत्रों  में छपने वाली तस्वीरें एक तरह से जिम्मेदारियों की पूर्णता का एहसास करा रहीं थीं ! 

अनिमेष के हास्टल चले जाने के बाद घर में सिर्फ  अभिषेक  और मैं बचे | ये समय हम माँ - बेटे को कुछ और भी अभिन्न बना गया | हम लगभग हर  विषय पर बिंदास बातें करते | इस समय जब  मैं  सोचती कि अभिषेक हास्टल  में  कैसे रह पायेगा , क्योंकि वो बहुत अन्तर्मुखी था ,और मेरा बच्चा नित नये आइडिया लाता कि मैं कुछ ऐसा शुरू करूँ जिससे उसके जाने के बाद  अकेलापन  न  महसूस  करूँ ! इस एक वर्ष के समय को उसने हमारी स्पेशल दोस्ती की संज्ञा दी है ,और यदा-कदा याद दिलाता रहता है |

आज भी मेरी अनमोल धरोहर हैं अभिषेक के मेरे जन्मदिन पर बनाये गये कार्ड | ये सिलसिला उसने अक्षर - ज्ञान होने के साथ ही शुरू कर दिया था | अभिषेक के पेंट किये  हुए  रुमाल  भी मैंने संजो रखे हैं ,जो उसने कक्षा दो - तीन में बनाये थे |

आज सोचती हूँ ,अभिषेक के जन्मदिन पर उसके लिए क्या विशेष मंगलकामना करूँ ,तुमने तो अपनी हर उपलब्धि से एक सम्पूर्णता का एहसास दिया है ..... हर आती - जाती श्वासें बस तुम दोनों को ही याद करती हैं | बस एक ही दुआ है जैसे अब तक रहे हो ऐसे ही ताउम्र बने रहो ...... बहुत सारी उपलब्धियाँ हासिल हों ,पर दिल का बचपना बना रहे ..... चश्मेबद्दूर !!!
                                                -निवेदिता 


20 टिप्‍पणियां:

  1. एक गीत है ..तुझे और क्या दूं मैं इसके सिवा तुझको हमारी उम्र लग जाये :)
    एक माँ का दिल खोल कर रख दिया आपने. अभिषेक के लिए इससे अनमोल उपहार और क्या होगा .
    हैप्पी बर्थडे अभिषेक.!!!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. देखा पहली दुआ भी एक माँ की ही आयी .... शुक्रिया कहने की होती है क्या ...-:)

      हटाएं
    2. बिलकुल नहीं :).आपने ठीक १२ बजे पोस्ट किया और हमने झट से मौका हथिया लिया :).

      हटाएं
  2. अभिषेक को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें ..... भावनाओं से भरी सुंदर पोस्ट .... उफार के तौर पर भी बहुत खूबसूरत तोहफा ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. भाव प्रबल पोस्ट .....!!एक माँ के लिए बच्चों से बड़ी और क्या बात हो सकती है ...?और बच्चे होनहार हों तो माँ बाप के ही श्रम का प्रतिफल है ...!!अभिषेक को जन्मदिन की ढेर सारी बधाई ...!!बहुत अच्छा लगा आज की आपकी पोस्ट पढ़कर ....!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. चश्मेबददूर , किसी की नजर ना लगे इस प्यार को ईश्वर ऐसे ही बनाये रखे , ये अनमोल रिश्ता है

    उत्तर देंहटाएं
  5. अभिषेक को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें……इसी तरह ज़िन्दगी मे तरक्की के आयाम छूता रहे।

    उत्तर देंहटाएं
  6. अभिषेक भाई को जन्मदिन बहुत बहुत मुबारक हो! ईश्वर उनकी हर तमन्ना पूरी करें।

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  7. चश्मेबद्दूर ...जन्मदिन की शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  8. अभिषेक को ढेरों शुभकामनायें, आप सबका नाम ऐसे ही उज्जवल करते रहें।

    उत्तर देंहटाएं
  9. अभिषेक को सस्नेह उज्जवल भविष्य की ढेरों शुभकामनायें,,,,,

    RECENT POST : गीत,

    उत्तर देंहटाएं
  10. मां की भावनाएं जब भी हो व्‍यक्‍त होती हैं कुछ अलग से एहसास समेट ही लाती हैं
    अपनी झोली में .. अभिषेक को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें ..
    आपकी आंखों का तारा यूँ ही हर पल ऊंचाईयों के गगन छूता रहे ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. अभिषेक बाबू को जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ, शुभकामनाएं और स्नेहाशीष !

    उत्तर देंहटाएं
  12. अभिषेक को हार्दिक शुभकामनायें..... ममता भरी पोस्ट

    उत्तर देंहटाएं
  13. माँ बेटे के प्यारे से रिश्ते की मीठी मीठी पोस्ट ...
    बहुत बधाई और शुभकामनायें आपके पूरे परिवार के लिए !

    उत्तर देंहटाएं
  14. जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें आपको और आपके बेटे को।

    उत्तर देंहटाएं
  15. अभिषेक को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें !!

    उत्तर देंहटाएं
  16. अभिषेक के प्रति आप सबके स्नेहाशीष के लिए आभारी हूँ ....-:)

    उत्तर देंहटाएं
  17. प्रिय अभिषेक को तनिक सी विलम्बित मगर भरपूर शुभकामनाएं!
    यह सभी पिताओं के लिए ही शायद एक ईर्ष्यालु तथ्य है कि बेटे क्या सभी बच्चे मां के ही ज्यादा निकट होते है !
    और बच्चों की सफलता और सफलता भी मां की ही क्रेडिट है -आपके दोनों बच्चे होनहार हैं और क्रेडिट भी आपको पूरी !
    अमित जी भले ही जीवन भर ईर्ष्या करते रहें! :-) लेट इट बी :-)

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. शुक्रिया आपका ! अमित जी ईर्ष्या नहीं कर सकते क्योंकि हम चारों में दोस्ती का रिश्ता सर्वोपरि है ...... बच्चों की सफलता का श्रेय हमारा नहीं है ये तो आप सब की दुआओं का असर है ...-:)

      हटाएं