बुधवार, 16 मार्च 2011

होलिका के प्रश्न ......

  हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी मैं छुपने के - बच पाने के उपाय करते करते थक गयीं हूँ,तो सोचा इसके पहले कि कोई मुझे खोज के फिर से न जला दे,मैं खुद से ही सबके सामने आ कर कुछ बातें कर ही लूं  और जिज्ञासा     भी शांत कर लूं |                                                                                                     कभी आप सब सोच कर देखिये,आप तो मुझे जला कर अपने-अपने घरों  को लौट जाते हैं | मेरा क्या हाल होता है ?मैं किस तरह और कब तक उस 
जलन को झेलती हूँ ?फाल्गुन ऋतु के बाद आने वाली ग्रीष्म ऋतु में जब 
आप सब अपने घरों में पंखे और एयरकंडीशनर की शीतलता का आनंद ले 
रहे होते हैं ,मैं झुलसती रहती हूं और मुक्ति का उपाय खोजती रह जाती हूं |
जब मौसम बदलता है और वर्षा ऋतु में जलधार मेरे आबलों पर चोट करती 
है मै तिलमिला जाती हूं ,पर आप को इससे क्या !शीत ऋतु जैसे ही मेरा 
जीवन थोड़ा सहने योग्य करती है ,आप पर फिर से फाल्गुन का भूत सवार 
हो जाता है और फिर से आप मुझे जलाने की योजनायें बनाना शुरू कर देतें 
हैं |
आप सब सिर्फ मेरे एक ही प्रश्न का उत्तर दे दीजिये ,बेशक उसके बाद मुझे 
फिर से जला देना |आप मुझे जलाते क्यों हो ? पता है तुरंत ही यही बोलोगे 
कि आप तो बुराई को जलाते हो और मैंने कई बुरे कर्म किये हैं इसलिए मुझे जलाते हो |ज़रा सोच कर तो देखो होली में मुझे और विजयादशमी पर रावण 
को जलाते हो ,पर क्या वाकई बुराई जल जाती है ? अगर बुराई को जलाने में सच में ही,आप सफल होते तो हर वर्ष मुझे जला पाने के लिए पाते कहाँ से ?
ये सब बुराइयां जो समाज में व्याप्त हैं इनका कारण मैं नहीं आप खुद हैं |आप खुद अपने - आप को क्यों नहीं जलाते ? अपनी बुराइयां - अपनी गलत सोच को जिस भी दिन मान जायेंगे - जान जायेंगे आप का ये मुझे जलाने वाला काम खुद-ब-खुद समाप्त हो जाएगा और होली जैसा प्यारा सा त्यौहार 
सिर्फ रंगों में खो कर ही मनाएंगे |
अंत में मैं सिर्फ यही कहूंगी कि,मैंने आपकी बुराइयां गिनवाने का काम नहीं
किया है क्योंकि वो तो आप को सबसे बेहतर पता होगा |आप सब से इतनी 
विनती करती हूं , कि इस वर्ष मुझ को  ऐसे जलाना कि हर बार की तरह मैं आधी-अधूरी न जलूं !बुराई की बहुत सारी बातें आपने मानी हैं ,एक इस बात 
को मान जाओ तो मैं भी मोक्ष पा जाऊं ...........    

7 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढ़िया.

    आपको होली की अग्रिम शुभकामनाएं.

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  2. रावण को जलाने के लिये और होलिका को जलाने वाली घटना को याद करने के लिये जलाते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  3. holi ki shbhkamnaon ke saath HOLIKA ke antas ki vedna ka marmik chitran kiya hai aapne. badhayi

    उत्तर देंहटाएं
  4. होली की अग्रिम शुभ कामनाएं|होलिका का प्रश्न बहुत सही है |बुराई समूल नष्ट होना चाहिए होलिका तो एक बार जल गयी |
    आशा

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत सार्थक प्रश्न...बहुत सुन्दर रचना..होली की अग्रिम शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं