बुधवार, 18 अप्रैल 2012

बस इक पल को ........


पल - पल राह तकी जिस पल की 
वो पल भी आया बस इक पल को 

पलक - पलक गैल बुहारी जिस साए की 
वो साया भी आया कुछ ठोकर खाया सा 

जर्रा -जर्रा सहेज इबारत लिखी अपने की 
लहरें भी  निशां छोड़  गईं उस सपने की 

रंग चुराए हर निखरी - बिखरी कली से 
ताना - बाना संवार  इन्द्रधनुष चमक गया 
                                               -निवेदिता 

24 टिप्‍पणियां:

  1. जर्रा -जर्रा सहेज इबारत लिखी अपने की
    लहरें भी निशां छोड़ गईं उस सपने की

    बहुत बढ़िया प्रस्तुति,सुंदर अभिव्यक्ति,niveditaa jee

    MY RECENT POST काव्यान्जलि ...: कवि,...

    उत्तर देंहटाएं
  2. एक पल की प्रतीक्षा में युग से बीतते लगते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  3. इक पल में बीत जाते हैं कई पल .......!!
    सुंदर रचना ...
    शुभकामनायें ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. जर्रा -जर्रा सहेज इबारत लिखी अपने की
    लहरें भी निशां छोड़ गईं उस सपने की

    बेहतरीन पंक्तियाँ।

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  5. हर पल जिओ जिंदगी ऐसे जैसे यही आखिरी पल है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. क्या बात है! मर्मस्पर्शी सृजन , शुभकामनयें जी /

    उत्तर देंहटाएं
  7. पल पल जी लें उससे ज्यादा और कुछ नहीं है।

    उत्तर देंहटाएं
  8. पलक - पलक गैल बुहारी जिस साए की
    वो साया भी आया कुछ ठोकर खाया सा ...

    साये के आने का इन्तेज़ार था ... वो आया ... और क्या चाहिए ...
    बहुत खूब लिखा है ..

    उत्तर देंहटाएं
  9. दिल को छूने वाली खूबसूरत अभिव्यक्ति. आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  10. अनूठे शब्द और अद्भुत भाव से सजी इस रचना के लिए बधाई स्वीकारें...

    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  11. पल - पल राह तकी जिस पल की
    वो पल भी आया बस इक पल को

    ...बहुत सुन्दर पंक्तियाँ....सुन्दर भावमयी रचना..

    उत्तर देंहटाएं
  12. जर्रा -जर्रा सहेज इबारत लिखी अपने की
    लहरें भी निशां छोड़ गईं उस सपने की

    ummdaa

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. ख़ूबसूरत भाव, सुन्दर रचना.

      कृपया मेरी १५० वीं पोस्ट पर पधारने का कष्ट करें , अपनी राय दें , आभारी होऊंगा .

      हटाएं
  13. कल 24/04/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल (विभा रानी श्रीवास्तव जी की प्रस्तुति में) पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत बढ़िया भाव संयोजन...बेहतरीन भावव्यक्ति

    उत्तर देंहटाएं
  15. पल - पल राह तकी जिस पल की
    वो पल भी आया बस इक पल को


    और मनचाहे पलों के लिये शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं